Tuesday, September 20, 2011

किसी कोशिश में   लम्हें जी रहा हूँ
न जाने किस तरह मैं मर रहा हूँ

  

Thursday, September 15, 2011

बूढ़ा जाट


 
दरिया,दरिया घाट समुन्दर


ताके किसकी बाट समुन्दर .


बादल भेजें नदियाँ डालें


ऐसे किसके ठाट समुन्दर .


औघड़ दानी प्यासा पानी


पहने ओढ़े टाट समुन्दर .

दिल का सच्चा जिद्दी बच्चा  

बारह  दूनी आठ  समुन्दर    .

चप्पा चप्पा कब्ज़ा मांगे


जैसे बूढ़ा जाट समुन्दर .




सुमति